क्या होटल मैनेजमेंट के छात्र को कम पढ़ाई करनी पड़ती है

नमस्कार दोस्तों आज हम बात करने जा रहे हैं कि क्या होटल मैनेजमेंट के छात्र को कॉलेज जाने के बाद पढ़ाई कम करनी पड़ती है। तो अगर आप होटल मैनेजमेंट कर रहे हैं। या आने वाले कुछ वर्षों में आप इसे करने जा रहे हैं।

तो आपके लिए यह जानना जरूरी है क्योंकि बहुत सारे होटल मैनेजमेंट के छात्र हैं। सोचिए कि होटल मैनेजमेंट में कॉलेज जाने के बाद। पढ़ाई कम करनी पड़ती है, लेकिन यह बात बिल्कुल गलत है कि कुछ नहीं होता।

क्योंकि होटल मैनेजमेंट भी एक प्रोफेशनल कोर्स है जिसमें बहुत सारे छात्रों की रुचि है और आने वाले समय में। हमारी युवा पीढ़ी के कारण होटल प्रबंधन के छात्रों की संख्या में काफी वृद्धि होने जा रही है। होटल प्रबंधन में होटल की दिलचस्पी बढ़ रही है। और बहुत सारे लोग होटल में घूमना चाहते हैं।

और अगर आप सोच रहे हैं कि होटल मैनेज करने के बाद। आप होटल में ही काम कर पाएंगे तो आप भी गलत सोच रहे हैं। क्योंकि होटल मैनेज करने के बाद आपके पास करियर के ढेर सारे विकल्प होते हैं। आप एयरलाइंस में जा सकते हैं, आप विदेश जा सकते हैं और होटलों में काम कर सकते हैं।

रेलवे क्षेत्र में भी काम कर सकते हैं। और कई जगह ऐसी भी हैं जहां आप होटल मैनेज करने के बाद काम कर सकते हैं। अगर आप होटल मैनेजमेंट करने के बारे में सोच रहे हैं। फिर यह मत सोचिए कि होटल मैनेजमेंट करने के लिए कॉलेज जाने के बाद आपको कम पढ़ाई करनी पड़ेगी। ऐसा इसलिए नहीं है क्योंकि इसमें बहुत सारी शिक्षा है।

क्या होटल मैनेजमेंट के छात्र को एकदम कम पढ़ना होता है : –

क्या होटल मैनेजमेंट के छात्रों को कम पढ़ाई करनी पड़ती है

मैं भी यही सोच रहा था कि कॉलेज जाने के बाद होटल मैनेजमेंट के छात्रों को पढ़ाई कम करनी पड़े। और ज्यादातर छात्र ऐसा ही सोचते हैं लेकिन कॉलेज जाने के बाद पता चला। कि यह बात बिल्कुल गलत है और सभी लोग इसे होटल समझते हैं। अगर मैनेजिंग स्टूडेंट को कॉलेज जाने के बाद पढ़ाई कम करनी पड़ती है।

फिर वो भी मेरी तरह गलत सोच रहा है। इसके अलावा होटल मैनेजमेंट के सिलेबस पर नजर डालें। तब आपको पता चलेगा कि होटल मैनेजमेंट करना कोई मामूली बात नहीं है, हालांकि। मैं मानता हूं कि अन्य व्यावसायिक पाठ्यक्रमों की तुलना में अध्ययन थोड़ा कम है।

लेकिन होटल मैनेजमेंट की थोड़ी बहुत पढ़ाई। ऐसा करने के लिए अधिकांश अध्ययनों में व्यावहारिक प्राथमिकता दी गई है। क्योंकि होटल मैनेजमेंट का पूरा कोर्स प्रैक्टिकल पर आधारित होता है। होटल मैनेजमेंट का काम होगा और कॉलेज जाएगा।

जब होटल मैनेजमेंट कॉलेज के शिक्षक इसे प्रैक्टिकल करेंगे। तब तुम समझोगे यह बात समझ में आती है। और जब मैं कॉलेज गया और हमारा एक टीचर हमारी इंट्रोडक्शन क्लास ले रहा था। और इस इंट्रोडक्शन में आपको मुझे बताना था कि आप Hotel Management से क्यों जुड़े।

कहने को तो और भी बहुत कुछ था, लेकिन यहां मैं सिर्फ इस बारे में बात करूंगा कि आपने होटल मैनेजमेंट क्यों ज्वाइन किया। फिर उस लड़के ने कहा कि होटल मैनेजमेंट के छात्र को कॉलेज जाने के बाद कम पढ़ाई करनी पड़ती है।

और मैं सोच रहा था कि मैं होटल मैनेजमेंट से जुड़ गया और उन्होंने यह भी कहा कि कब। मैं कॉलेज आता हूं, मुझे ऐसा कुछ नहीं दिखता, मैंने इसमें भी काफी पढ़ाई की है। तो अभी से खुद को समझो और सोचना बंद कर दो। उस होटल मैनेजमेंट के छात्र को कॉलेज जाना चाहिए। कम पढ़ने की जरूरत है।

होटल मैनेजमेंट कॉलेजों की इतनी फीस क्यों है : –

अगर आप होटल मैनेजमेंट करने की सोच रहे हैं। फिर आपके मन में यह सवाल भी जरूर आता होगा कि होटल मैनेजमेंट कॉलेज के लोग इतनी फीस क्यों लेते हैं। और अगर आप यह सोच रहे हैं कि देने के बावजूद। इतना कि होटल मैनेजमेंट के छात्र को पढ़ाई कम करनी पड़ती है।

कॉलेज जाने के बाद आपको लगता है कि यह जानकारी सही है या गलत। अगर आप होटल मैनेजमेंट के लिए एंट्रेंस एग्जाम देते हैं और क्वालिफाई करते हैं। प्रवेश परीक्षा के बाद आपको एक सरकारी कॉलेज मिलता है।

होटल प्रबंधन के लिए। इन सभी सरकारी कॉलेजों में एक आईएचएम है और जिस कॉलेज के सामने आईएचएम है। होटल प्रबंधन के लिए अच्छा है। और आपको बता दें कि इस प्रवेश परीक्षा का नाम NCHM-jee है। और अगर आपको सरकारी कॉलेज मिलता है तो सरकारी कॉलेज की फीस 360000 से 400000 तक होती है।

जिसमें आपको हॉस्टल फीस नहीं जोड़ी गई है। यह आपके पूरे कोर्स का कोर्स है, आप सेमेस्टर वार भी दे सकते हैं। या आप इसे एक साथ भी दे सकते हैं। और अगर आप प्रवेश परीक्षा उत्तीर्ण या उत्तीर्ण नहीं कर पा रहे हैं तो आपको निजी कॉलेज से होटल प्रबंधन की पढ़ाई करनी होगी।

जो और महंगा हो जाता है। और आपके मन में भी यही सवाल आ रहा होगा कि. सरकारी कॉलेज इतना fee क्यों लेता है। तो कॉलेज वालों को पता चल जाएगा कि वो इतनी फीस क्यों लेते हैं.

निष्कर्ष : –

होटल मैनेजमेंट कॉलेज में बहुत सारे प्रैक्टिकल किए जाते हैं, शायद इसलिए कि इतनी फीस ली जाती है। और या जो कुछ भी कॉलेज ऑफ होटल मैनेजमेंट द्वारा लिया जाता है या हर साल बदल रहा है। परिवर्तन का अर्थ यह नहीं है कि परिवर्तन का अर्थ यह है कि यह बढ़ता रहता है। और अगर आपके परिवार की आर्थिक स्थिति ठीक नहीं है।

फिर इसे आजमाएं ताकि आप होटल मैनेजमेंट करने के लिए एंट्रेंस एग्जाम दे सकें। क्योंकि प्रवेश परीक्षा देने के बाद कॉलेज द्वारा ली जाने वाली फीस कम कर दी जाती है। इसलिए मैं कह रहा हूं कि तुम सोचना बंद करो। कि होटल मैनेजमेंट के छात्रों को कॉलेज जाने के बाद पढ़ाई कम करनी पड़ती है।

क्योंकि यह सोच कई लोगों के मन में भर जाती है। इसलिए मैं आपको यह बात समझाना चाहता हूं। और एक होटल मैनेजमेंट कॉलेज में छात्र के रूप में।

आप जरूर सोचेंगे कि जब कॉलेज के लोग इतनी फीस ले रहे हैं। फिर हमें पढ़ना चाहिए या नहीं और हमें कैसे पढ़ना चाहिए, या मन से पढ़ना चाहिए। क्योंकि ऐसा नहीं होना चाहिए यह आपकी मानसिकता पर भी निर्भर करता है। अब आप समझ ही गए होंगे कि एक होटल मैनेजमेंट का छात्र।

कॉलेज में पढ़ने के बाद कम पढ़ना पड़ता है या ज्यादा पढ़ना पड़ता है या बिल्कुल भी नहीं पढ़ना पड़ता है। ऐसी कोई पढ़ाई नहीं है जहां आपको हर जगह पढ़ाई न करनी पड़े। यह अब एक छात्र पर निर्भर करता है कि वह पढ़ाई के बारे में क्या सोचता है।

Leave a Comment